Soil Health Card: सरकारी मदद से गांव में शुरू करे ये बिजनेस

Soil Health Card

नमस्कार दोस्तों, उम्मीद करता हूं कि आप सभी ठीक होगे। आज हम आपको अपनी इस पोस्ट में Soil Health Card योजना के बारे में बताएंगे।

देश में जहा रोजगार के अवसर कम होते जा रहे हैं। वही दूसरी तरफ लोगों का रुझान धीरे-धीरे बिजनेस की तरफ बढ़ रहा है। शहरी क्षेत्र में बिजनेस करना काफी फायदेमंद होता है। इसलिए ज्यादातर लोग शहरों में ही अपने काम को शुरू करते हैं। परंतु कई बिज़नस ऐसे भी है। जिनको आप गांव में रहकर भी अच्छे से शुरू कर सकते हैं।

सरकार के द्वारा शुरू की गई योजना से आप गांव में रहकर एक फायदेमंद बिजनेस शुरू कर सकते हो। जिस की कमाई आपको लाखों में भी प्राप्त हो सकती है। जब आप इस योजना के तहत बिजनेस शुरू करते हो तो सरकार आपको 75 फ़ीसदी रकम खुद देती है और बाकी 25 फ़ीसदी रकम आपको खुद निवेश करनी पड़ती है।

अगर आप भी इस योजना के बारे में विस्तार से जानना चाहते हो तो नीचे पूरा ब्लॉक पढ़ें।

Soil Health Card योजना क्या हैं?

इस योजना के तहत सरकार आपको पंचायत लेवल पर एक मिनी सॉइल टेस्टिंग लैब (Soil Health Card) को खोलने में सहायता करती है। इस लैब में आसपास के गांव की मिट्टी की जांच की जाती है।

फिलहाल कई गांव में यह लैब स्थापित नहीं है। जिसके कारण उनको अन्य गांव या शहर में जाकर मिट्टी की जांच करानी पड़ती है। अगर आप इस कार्य को करने में दिलचस्पी दिखाते हो तो आप काफी अच्छी कमाई कर सकते हो।

Soil Health Card
Soil Health Card

कौन उठा सकता है इसका लाभ

इस योजना का लाभ 18 से 40 साल तक की उम्र के व्यक्ति उठा सकते हैं। अगर आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हो तो आपको एग्री क्लिनिक, कृषि उद्यमी ट्रेनिंग के साथ 10वी पास होना आवश्यक हैं।

साथ ही सबसे महत्वपूर्ण बात यह भी हैं कि आपका कृषि परिवार से संबंध होना भी आवश्यक हैं।

कैसे करे इसके लिए आवेदन

Soil Health Card स्थापित करने के लिए आपको जिले के उपनिदेशक (कृषि) या संयुक्त निदेशक कृषि से उनके ऑफिस पर जाकर उनसे संपर्क करना होगा। इसके अलावा आप ऑनलाइन भी इनकी agricoop.nic.in इस साइट या soilhealth.dac.gov.in इस साइट पर जाकर संपर्क कर सकते हैं।

अगर आप कॉल के माध्यम से सूचना प्राप्त करना चाहते हो तो आप कृषि सेंटर (1800–180–1551) पर भी संपर्क कर सकते हो। अगर आप जिले के कृषि विभाग से संपर्क करते हो तो Soil Health Card योजना के लिए आपको फॉर्म उपलब्ध कराया जाएगा। जिसको आप भरकर और साथ ही उसमे जरूरी डॉक्यूमेंट अटैच करके आवेदन कर सकते हो।

कितना खर्चा आता है

Soil Health Card लैब स्थापित करने के लिए करीबन 5 लाख का खर्चा आता है। जिसमें इस योजना के अंतर्गत 3.75 लाख रुपए सरकार देती है और बाकी के 1.25 लाख रुपए खुद निवेश करने पड़ते हैं।

साथ ही इसके लिए आपके पास एक पक्की जमीन खुद की या किराए की होनी आवश्यक है। अगर आप चाहे तो इसको वैन के रूप में भी शुरू कर सकते हैं। जिसमे आपको और भी ज्यादा कमाने का मौका मिल सकता हैं।

कितनी होगी कमाई

इस योजना के तहत आपको मिट्टी की जांच करनी होगी। उसके लिए मिट्टी के नमूने की जांच के आधार पर Soil Health Card का प्रिंटिंग और डिस्ट्रीब्यूशन करने पर आपको प्रति सैंपल 300 रुपए मिलेंगे।

इसके हिसाब से आप महीने के आराम से 15 से 25 हजार शुरुआत में कमा सकते हैं। बाकी काम बढ़ने पर यह कमाई भी बढ़ जाएगी।

निष्कर्ष :

उम्मीद करता हुं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर अभी भी आपके मन में कोई संदेह हैं। तो आप कमेंट करके जरूर बताएं। धन्यवाद।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published.